7 आदते जिसे भगवान् श्री राम ने उन्मुक्त की थी

आदते(The Habits) जिसे भगवान् श्री राम ने उन्मुक्त की थी, भगवान् श्री राम(Lord Rama) जिन्हें मर्यादा पुरषोत्तम भी कहा जाता हे,श्री राम का जन्म रघुकुल में हुआ था जिसकी परम्परा थी “प्राण जाए पर वचन न जाए”,अपने पिता दशरथ के वचन के लिए राम ने ख़ुशी ख़ुशी 14 वर्ष का वनवास स्वीकार किया था,श्री राम ने मर्यादा के पालन के लिए माता-पिता,मित्र,राज्य,यहाँ तक की अपनी पत्नी का भी साथ छोड़ा था.

जानिये किन 6 प्रकार के लोग जो हमेशा दुखी जीवन जीते हे

श्री राम को विष्णु का सांतवा अवतार माना जाता हे,भगवान् श्री राम और माता सीता पर कई ग्रन्थ लिखे गये हे,जिनमे से एक हे आनन्द रामायण(Anand Ramayan) और इसके writer हे श्रीरामलग्न पांडे,आंनंद रामायण की रचना वाल्मीकि रामायण(Valmiki Ramayana) के आधार पर की गई हे,इसमें 9 कांड हे जिसमे भगवान् राम के जन्म से लेकर स्व्लोकगमन तक की कथाए कही गई हे.

जानिये वह 44 तरीके क्या हे जिससे आप खुदको हररोज Improve कर सकते हे

इस ग्रन्थ के अनुसार उसमे भगवान् श्री राम ने मनुष्य की ऐसी 7 habits के विषय में कहा हे जो मनुष्य की सबसे बड़ी शत्रु हे और मनुष्य को हमेशा इनसे दूर रहना चाहिए.

The Habits

The Habits Which Lord Rama Disclose in Ramayana-ऐसी 7 आदते जिसे भगवान् श्री राम ने उन्मुक्त की थी

जानिये ऐसी 10 Tips कौन सी हे जो आपकी Life को निश्चित चमत्कारिक तरीके से बदल सकती हे 

1.देर तक सोना 

कई लोगो को आदत होती हे सुबह देर तक सोते रहने की,यह आलस की निशानी हे और ऐसी व्यक्ति को हरेक काम को टालने की आदत हो जाती हे,इसलिए ऐसी आदत से बचना चाहिए.

2.आलस(Laziness)

आलसी व्यक्ति हरेक काम में आलस ही करती हे और वह उनको मिलने वाले किसी भी तक का लाभ नहीं उठा सकती,आलसु व्यक्ति अपने आरोग्य और काम के प्रति जागृत नहीं होती,इसलिए आलस को जितना हो सके उतना जल्दी छोड़ देना चाहिए.

3.नशा करना 

नशा करना बुरी आदत हे,नशा करने वाले व्यक्ति को अच्छे और बुरे का ध्यान नहीं रहता,उसके खराब कर्मो की सजा उसके परिवार को भी भुगतनी पडती हे,नशा करने वाली व्यक्ति अपने मान सन्मान का तो नाश करती हे लेकिन साथ साथ धन-सम्पत्ति का भी नाश करती हे.

The Habits जिसे भगवान् राम ने उन्मुक्त की थी 

4.खेल कूद(Sports) में ज्यादा ध्यान देना 

खेल कूद का शौक(hobby) हो वह अच्छी बात हे,लेकिन यदि यह शौक आदत बन जाए तब व्यक्ति समय बर्बाद करने लगती हे,ऐसी व्यक्ति अपने कार्यो और जिम्मेदारियों के प्रति जागृत नहीं रहती,इसलिए ऐसी आदत को छोड़ देना चाहिए.

5.जुआ(Gambling) खेलना 

जीन लोगो को जुआ खेलने की आदत होती हे वह व्यक्ति किसी बात का विचार नहीं करती,आपने कई लोगो को देखा होगा जुए में घर, मकान, जायदाद हारते हुए,जुआ खेलने वाली व्यक्ति लोभी और देवादार हो जाती हे,साथ साथ वह खुदके और अपने परिवार की बर्बादी का कारन बनती हे.

The Habits जिसे भगवान् राम ने उन्मुक्त की थी 

6.दूसरी महिला को प्रेम करना 

जो पुरुष अपनी पत्नी को छोड़कर दूसरी महिलाओ की और ध्यान देते हे वह दुष्ट हे और यदि ऐसी व्यक्ति के मन में खराब भावनाओ का जन्म हो तो वह उसे पूरा करने के लिए किसी भी हद तक जा सकती हे.

7.शिकार करना 

कितने लोगो को शिकार करने का शौक होता हे,जीव हत्या चाहे वह किसी की भी हो पशु-पक्षी की या किसी और की वह बहुत बड़ा पाप हे,पाप करने से व्यक्ति को खराब परिणाम भुगतने पड़ते हे,इसलिए यदि किसी व्यक्ति को शिकार करने का शौक हो तो उसे इस आदत को छोड़ देना चाहिए.

 

 

(Visited 15 times, 1 visits today)