Inspirational Moral Story: बच्चो को पैसे का महत्व समझाये

Life में पैसो से भी जो बढ़कर सुख हे वह हे बच्चो का सुख, उनके लालन पालन का सुख, बच्चो को जीतना प्यार देना आवश्यक हे, उतना उनके जीवन को सही राह देना भी आवश्यक हे, उन्हें अच्छी शिक्षा देना तो महत्वपूर्ण हे ही लेकिन साथ साथ उतना ही महत्वपूर्ण हे उन्हें जीवन के नैतिक मूल्य समझाना, जीवन की कुछ सच्चाईयों से अवगत कराना और कुछ चीजो का महत्व समझाना, इसीसे से सम्बन्धित बाप और बेटे की यह छोटीसी Inspirational Moral Story हे जो काफी Motivational हे और इसे हरेक माता-पिता(parents) और बच्चो को जरुर पढना चाहिए.

inspirational moral story

Inspirational Moral Story of Father and Son

एक व्यापारी के यहा शादी के कई सालो बाद बालक का जन्म हुआ, कई सालो बाद और मन्नतो के बाद अपने यहा बालक के जन्म के बाद व्यापरी और उसकी धर्म पत्नी काफी खुश थे, व्यापारी अपने बच्चे का खूब ध्यान रखता और उसकी सभी ख्वाहिसे पूरी करता, अपने बच्चे को वह हर चीज लाकर देता जो वह मांगता.

लेकिन लड़का जैसे जैसे बड़ा होता गया वैसे वैसे ज्यादा लाड प्यार के कारन वह उडाऊ बनता गया, उसे न तो पैसो की कद्र थी न किम्मत, वह पैसे पानी की तरह खर्च करता, मानो आज चीज ली कल फेक दी.

व्यापारी ने सोचा की अपने बेटे को पैसो का महत्व तो समझाना ही पड़ेगा अन्यथा आगे जाकर future में वह सभी property को खत्म कर देगा.

एक दिन उसने अपने बेटे को अपने पास बिठाया और कहा, “बेटा” आज तक में जो कुछ भी कमाया हु वह property तुम्हारी ही हे और वह मुझे तुमको ही देना हे.

लेकिन मेरी एक शर्त हे, इसके लिए तुमको लायक बनना पड़ेगा, तुम तुम्हारी मेहनत से एक रुपया कमा कर मुझे दिखाओ तो मेरी सभी property तुम्हे मिलेगी अन्यथा में मेरी सभी property अच्छे कार्यो के लिए किसी organization को दान में दे दूंगा.

दुसरे दिन लडके ने एक रूपये का सिक्का लाकर पिता के हाथ में रखा और कहा, “लीजिये मेरे द्वारा कमाया हुआ रुपया”.

व्यापारी ने वह रुपया दरवाजे से बाहर फेक दिया और कहा, मुझे यह पता हे की यह रुपया तुम तुम्हारी मम्मी के पास से लेकर आये हो, यह रुपया तुम्हारा नहीं लेकिन मेरा कमाया हुआ हे, मुझे तो तुम्हारे द्वारा कमाया हुआ रुपया चाहिए.

तीसरे दिन लडके ने फिर चालाकी की और अपनी बहन से रुपया लेकर व्यापारी को दिया, व्यापारी ने वह रुपया भी बाहर फेक दिया.

चौथे दिन लडके ने अपने friend के पास से उधार रुपया लाकर व्यापारी को दिया, व्यापारी ने यह रुपया भी तुम्हारे द्वारा कमाया हुआ नहीं हे यह कह कर बारी मे से बाहर फेक दिया.

लडके ने सोचा की, में जब तक अपनी मेहनत से रुपया नहीं कमाता तब तक पिताजी मेरा पीछा छोड़ने वाले नहीं हे इसलिए पांचवे दिन सुबह जल्दी उठकर तैयार होकर वह काम की खोज में निकल पडा.

Trishneet Arora ने अपनी महेनत से बदली अपनी दुनिया 

Jack Ma कैसे बने इतने अमीर

काफी खोजने के बाद उसे एक hotel में सामान्य waiter का काम मिला, वहा उसने पूरा दिन काम किया तब hotel के मालिक ने लडके को उसके काम के बदले में एक रुपया दिया.

वहा थका हुआ घर आया और हस्ते हुए चेहरे से एक रुपया व्यापारी के हाथ में रखा, व्यापारी ने हर बार की तरह वह सिक्का भी बारी के बाहर फेक दिया, यह देखर लड़का लाल-पिला हो गया, वरना हररोज तो जब व्यापारी सिक्का बाहर फेकता तो लड़का सिर्फ देखता रहता, लेकिन आज तो वह बाहर जाकर सिक्का वापिस लेकर आया और गुस्से से बोला, यह रुपया मेरी जात मेहनत का हे, यह मैंने पूरा दिन मेहनत कर कमाया हे.

यह रुपया कमाने के लिए मैंने कितनी तकलीफ झेली, कितना काम किया वह आपको क्या पता?

आपने तो यहाँ बैठे बैठे आराम से रुपया बाहर फेक दिया.

लेकिन यह रुपया कमाने के लिए मैंने आज गधे की तरह काम किया हे, पिता ने अपने बेटे को बहुत ही प्रेम से अपने पास बिठाकर कहा, “बेटा” जब मैंने तुम्हारे द्वारा कमाया हुआ रुपया बाहर फेक दिया तो तुम्हे कितना दुःख हुआ! जब तुम मेरे खून पसीने की कमाई बाहर फेक देते हो तब मुझे दुःख नहीं होता होगा?

लडके को अपने पिता की बात समझमे आ गई.

क्या आप Tom Cruise को जानते हे? नहीं जानते तो पढिये उनकी कहानी 

ज्यादातर लोगो की यह सोच होती हे की कम पढ़ा-लिखा व्यक्ति कुछ नहीं कर सकता-Ritesh Agarwal ने यह गलत साबित किया हे 

यह inspirational moral story से हमे क्या सिख मिलती हे.

My Friends

अपने माता-पिता, दादा-दादी के पास जो सम्पति हे वह उनके द्वारा कमाई हुई हे, उन्होंने उसके लिए काफी मेहनत की होगी, रात दिन काम किया होगा, उनके द्वारा कमाई हुई धन-दोलत का बिना जरुरत खर्च करना हमे उनके सन्तान होने पर भी कोई अधिकार नहीं हे, पैसे खर्च करने से पहले उसे कमाना सीखे,पैसे का महत्व समजे.

If you like this inspirational moral story then please share it with your friends and family.

 

 

 

(Visited 80 times, 1 visits today)