Never gain without pain,यदि कुछ पाना हे तो hard work तो करना ही पड़ेगा

Never gain without pain,बिना मेहनत के कुछ नही मिलता

आलसु गधा(Donkey),

एक बार एक गधा रोते रोते एक महात्मा के पास आया,और बोला,महात्माजी मेरा मालिक मेरे पास खूब काम करवाता हे,और मुझे मारता हे,में बहुत ही परेशान हो गया हु,मुझे इस यातना भरे जीवनसे मुक्ति दिलाइये.

Never gain without pain

महात्मा बोले में तुम्हे मनुष्य बना दूंगा,फिर तुमको अत्याचार नही सहना पड़ेगा.

Never gain without pain

Mahatma ने मंत्र पढ़कर अपना हाथ गधे पर रखा,ॐ…………

चमत्कार हुआ,गधा एक सुंदर युवान बन गया,donkey बोला,अरे वाह में तो मनुष्य बन गया.

फिर Mahatma ने कहा की अब तुम कोई काम(work) पसंद करो,फिर में उसके मुताबिक तुम्हे विध्या(Knowledge) देता हु.

Donkey बोला, में मनुष्य बन गया फिर भी मुझे काम करना पड़ेगा? महात्मा ने कहा की जीने के लिए काम तो करना ही पड़ेगा,में तुम्हे Teacher बना देता हु,गधेमेसे मनुष्य बने युवान ने सोचा?  अरे class मे तो बहुत शरारती,तूफानी लडके होते हे,उनको में नही संभाल शकता.

Never gain without pain

Donkey बोला महाराज! मुझे कोई और काम दो,ठीक हे में तुम्हे किसान बना दूंगा,युवानने सोचा? की खेती करनेके लिए बारिस और धूप जेलना पड़ेगा,नही नही में खेती नही करूंगा,मुझे दूसरा कोई काम शिखाइए.

महाराज बोले में तुम्हे Doctor  बना दूंगा,युवानने सोचा? नही नही,किसी मरीज का चेप यदि मुझे लग गया तो? में Doctor बनना नही चाहता.

तो में तुमको Engineer बना दूंगा,युवानने सोचा?  साहब ये आपका मशीन तो हरबार बिगड़ जाता हे,उसे ठीक करो,में Engineer बनना नही चाहता,आप मुझे Factory मालिक बना दो.

Never gain without pain

युवान Factory मालिक बन गया,लेकिन मालिक मुझे Loan दीजिये,मेरे घर पर शादी हे,इसलिए मुझे छुट्टी भी दीजिये,मेरा Order वक्त पर पूरा करो,या मेरे पैसे वापिस करो,यह सब problems उसके सामने आने लगे.

थोड़े ही दिनों में युवान महात्मा के पास आया,महाराज! मे इतनी बड़ी जिम्मेदारी संभाल नही शकता,मुझे कुछ easy काम दीजिये.

यह सुनकर महाराज गुस्सा होकर बोले तुजे हर काम में कमी दिखाई देती हे,तू गधा था वही बरोबर था,इसलिए में वापिस तुजे,में तुम्हे गधा ही बना दूंगा क्योकि तुम्हारी सोच भी गधे जेसी ही हे.

ऐसा बोलकर महात्मा ने वापिस युवान को गधा बना दिया.

सिख:“तकलीफ तो रहेगी ही”बिना मेहनत के कुछ नही मिलता(Never gain without pain),हमे जिनके लिए खाना पड़ेगा,खाने के लिए कमाना पड़ेगा,कमानेके लिए काम करना पड़ेगा,कमाने के बाद खाना आएगा,उसके बाद भी खाना सीधे हमारे पेट में नही जायेगा,हमे उसे पकाना पड़ेगा और फिर अपने हाथो से उसे खाना पड़ेगा.

आपको यह post कैसी लगी? यदि अच्छी लगी हो तो please इसे अपने friends और relatives के साथ share करना न भूले और निचे comment box में comment जरूर करें


(Visited 14 times, 1 visits today)