Relationship Expert Advice By Raja Ram Mohan Roy

Relationship expert advice-जब शादी का समय आता हे तब बहुत सारे girls and boys काफी चीजों को आगे कर रिश्ता ठुकरा देते है, जैसे लड़का काला हे, लड़की काली हे, लड़की या लड़के की height कम हे, लड़की मोती हे पतली हे, लड़का मोटा हे पतला हे वगैरह और यदि arranged marriage हो, शादी अपनी मर्जी से न हुई हो तब यह सिलसिला शादी के पश्चात भी चलता रहता हे और husband-wife में नोक झोंक चलती रहती हे.

relationship expert advice

इसी चीज पर आज बात करेंगे की क्या शादी के लिए केवल रूप रंग ही महत्वपूर्ण हे? क्या शादी के वक़्त लड़का या लड़की के चुनाव के वक़्त केवल रूप-रंग को ही देखना चाहिए? या दूसरी चीजे भी महत्वपूर्ण हे जैसे लड़का-लड़की का स्वभाव, आदतें, व्यवहार वगैरह.

सच्ची सुंदरता कौन सी तन की या मन की

Relationship Expert Advice-Interesting Story

इससे related यह story हे,सुधारक Raja Ram Mohan Roy किसी भी प्रकार के भेदभाव के विरोधी थे और खासकर रंगभेद के ,उनके काफी अनुयायी थे जिसमे से एक नंद किशोर बाशु को marriage के लिए एक गोरी(white) लड़की दिखाई गई लेकिन बाद में धोका देकर उसकी शादी एक काली(black) लड़की से कर दी गई,नन्द को अपने साथ हुए इस धोके की वजह से बहुत गुस्सा आया और वह काफी परेशान भी हो गया.

उसने अपने साथ हुए इस छल का बदला लेने के लिए दूसरी शादी की सोची,उसको किसी ने सलाह दी की इस समस्या का निराकरण के लिए तुम राजा राम मोहन राय की सलाह लो,जब उसने Raja Ram Mohan Roy के पास जाकर सलाह मांगी तब राजा राममोहन राय ने नंद किशोर से पूछा “क्या तुमको तुम्हारी पत्नी काली होने के अलावा उसमे दूसरी कोई कमी दिखती हे?” नन्द ने जवाब दिया, नहीं,वह बहुत ही अच्छे स्वभाव की और सुशील हे और मेरी अच्छी तरह से देखभाल भी रखती हे, लेकिन में मेरे साथ हुए छल को भूल नहीं सकता और में उसके पिता के साथ इसका बदला(revenge) लेना चाहता हु.

Raja Ram Mohan Roy ने नंद से कहा पिता द्वारा किये गए अपराध की सजा(punishment) उसकी पुत्री को देना अनुचित हे और व्यक्ति का मूल्यांकन उसके रूप-रंग के आधार पर नहीं लेकिन उसके गुण के आधार पर करना चाहिए.

कुदरत ने मनुष्य को दो रंग दिए हे black and white,अपने रंग के लिए कोई खुद जिम्मेदार नहीं हे,तुम्हारी wife तन से सुन्दर नहीं हे लेकिन मन से सुन्दर हे और मन की सुंदरता तन की सुंदरता से बहुत बड़ी हे, इसलिए उसे छोड़ देने का और दूसरी शादी करने का विचार अपने दिमाग से निकाल दो और अपनी life इसी स्त्री के साथ खुसी खुसी बिताओ,में तुमको guaranty देता हु की तुम्हारे यह निर्णय पर तुमको जीवन में कभी पछतावा नहीं होगा.

नंद किशोर बाशु की आँखे खुल गई,राजा राममोहन राय की बात सच साबित हुई और उनकी marriage life सुखमय पसार हुई.

Conclusion:-

किसी भी व्यक्ति का मूल्यांकन फिर चाहे वह शादी के लिए हो या किसी और चीज के लिए,कभी भी उसके रूप-रंग के आधार पर या किसी और चीज के आधार पर नहीं करना चाहिए,हो सकता हे उसमे किसी एक चीज की कमी होगी लेकिन उसके सामने उसमे हजारो खुबिया होगी,हमे सिर्फ जरुरत हे उसे परखने की.

यदि आपको यह relationship expert advice पसंद आई हो तो कृपया इसे social sites पर जरुर share करे.

(Visited 109 times, 1 visits today)

One Comment