Road Accident किसी महामारी से कम नहीं हे!

यदि आपने किसी अपने को road accident में खोया हे तो आपको इसे दुसरो के साथ जरुर share करना चाहिए.

में हररोज news paper में पढता हु, लोगो से सुनता हु, Whats-app, Facebook पर लोगो द्वारा share किये गये videos और photos देखता हु, आज car की टक्कर truck से हो गई – इतने लोग मारे गए, bus की टक्कर पेड़ से हो गई – इतने लोग मारे गये, car की टक्कर car से हो गई – इतने लोग मारे गये, bike की टक्कर car-truck से हो गई – इतने लोग मारे गये.

ऐसा एक दिन नहीं होगा जब हमे road accident से सम्बधित news अखबार में पढने को न मिलती हो, लोग कहते भी हे की पहले “राक्षस लोगो को मारते थे अब यह road नाम का राक्षस लोगो को मार रहा हे”.

Road accident में न जाने हररोज कितने बच्चे अनाथ होते हे, कितनी बिविया विधवा होती हे.

Accident

Road accident में किसी की wife की जान जाती हे, किसी के husband की जान जाती हे, कोई अपने बच्चे खो बैठते हे तो किसी के माँ-बाप चले जाते हे और उसके बाद वह इस दुनिया में असहाय और लाचार हो जाते हे, यदि आज के समय को देखा जाए तो लोग किसी बीमारी से नहीं मरते होंगे उससे ज्यादा road accident में मरते हे, इसलिए मैंने यहाँ महामारी से कम नहीं है शब्द का प्रयोग किया हे.

क्या होता होगा उन बच्चो का जो एक जटके में अपने माँ-बाप की छत्रछाया खो बैठते हे, क्या होता होगा उन माँ-बाप का जो एक जटके में अपने बच्चे को खो देते हे, क्या होता होगा उस माँ का जो एक जटके में अपने बच्चे के पिता को खो देती हे, क्या होता होगा उस बाप का जो केवल एक जटके में अपने बच्चे की माँ को खो देता हे, उनके जाने के बाद उनके जीवन में कितनी हलचल मच जाती होगी! यह सोचकर ही मन में खलबली मच जाती हे, उनके जाने के बाद उनको मानसिक और आर्थिक रूपसे कितनी यातना जेलनी पडती होगी यह मुझे बताने की जरुरत नहीं हे.

India में Road Accident में मरने वाले लोगो के आंकड़ो की बात करे तो…

NDTV के एक report के अनुसार 2013 में 137000 लोगो की road accident मौत हुई थी.

The Indian Express के एक report के अनुसार 2016 में 150785 लोगो की road हादसे में मौत हुई थी, 2015 में 146133 लोगो की मौत हुई थी, उनके 2016 के report के अनुसार India में हरेक एक घंटे में 17 लोगो की road accident में जान जाती हे.

Times of India के एक report के अनुसार 2017 में 146377 लोगो की road accident में मौत हुई थी.

आंकड़े इससे ज्यादा भी हो सकते हे, क्युकी यह वह आंकड़े हे जो register हुए होंगे लेकिन जो register नहीं हुए होंगे वह..

यदि Road Accident Reasons – मुख्य कारणों की बात करे तो..

1. Driving के समय mobile phone का उपयोग.

एक व्यक्ति mobile phone पर बात करते करते bike चला रहा था, उसका पूरा ध्यान बातो में था, उसने बिना side signal या हाथ बताये turn ले किया, पीछे से truck आ रहा था जिसने उसे उड़ा दिया.

2. Over Speeding – बहुत तेजी से गाडी चलाना.

अभी थोड़े दिनों पहले एक family car से महाराष्ट्र से गुजरात जा रही थी, car की speed बहुत ज्यादा थी, car चालक ने अपना संतुलन खो दिया,car divider कूदकर सामने वाले track पर आ रही car के साथ जा टकराई, जिसमे एक car के 2 व्यक्ति और दूसरी car के 1 व्यक्ति की मौत हो गई.

3. Drunk and Drive – दारु पीकर गाडी चलाना.

एक व्यक्ति रात को bike से जा रहा था, उसको पीछे से आ रही car ने टककर मार दी, bike सवार की वही पर मौत हो गई, car का driver दारु पिया हुआ था.

4. लापरवाही से गाडी चलाना

अभी थोड़े दिनों पहले Gujarat में एक ट्रक नदी के पुल से नीचे गिर गया जिसमें 35 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई, truck का driver उसमे बैठे passengers के मना करने के बावजूद लापरवाही से बहुत तेजीसे गाडी चला रहा था.

5. Red Light Jumping – Signal तोडना

Bus, red signal होने पर रुकी, bus की बाजू में जा रही लड़की बिना देखे signal तोड़कर आगे निकल गई, दूसरी और से दूसरी bus आ रही थी, क्युकी वह लड़की bus के बाजू में से, मतलब की bus के पीछे से निकली इस वजह से वह दूसरी और से आ रही bus के driver को न दिखी और उसने उसे उड़ा दिया.

6. Safety Features को नजर अंदाज करना – Seat Belt, Helmet etc.

Traffic की वजह से bike सवार truck और JCB के बिचमे खड़ा था, JCB पीछे था और Truck आगे, JCB वाले को क्या हुआ की उसने bike वाले को टक्कर मार दी, bike सवार का सिर truck से टकराया, उसने helmet नहीं पहना था, उसका सिर फट गया और उसकी उसी जगह पर मौत हो गई.

7. Overtaking – Race

एक व्यक्ति की बीवी को उस दिन लड़का हुआ था, वह खुशी में उसकी बीवी को hospital मिलने जा रहा था, single way पर सामने से truck आ रहा था फिर भी उसने उसके आगे चल रही truck की overtake करनी चाही, वह सामने से आ रही truck के साथ टकरा गया और उसकी वही पर मौत हो गई.

8. Traffic Rules का पालन न करना

9. खराब मौसम – तेज बारिस में driving करना

बहुत तूफान था और बारिश थी, फिर भी एक family car से अपने घर जा रही थी, बहुत तूफान और बारिश की वजह से पेड़ टूटकर car पर गिरा और इस वजह से car में बैठे 2 व्यक्ति की मौत हो गई.

10. खराब सड़क

एक महिला Activa से job से छूटकर अपने घर जा रही थी, road थोड़ा खराब था, उसमे खड्डे थे, लेकिन फिर भी वह महिला काफी तेजी से Activa चला रही थी, Activa स्लिप हो गई और वह नीचे गिरी,पीछे से क्रेन आ रहा था उसके निचे वह आ गई.

जब में पढ़ता हु की कोई अनजान car चालक, truck चालक किसी bike को ठोककर चला गया जिसमे bike सवार की on the spot मौत हो गई, वह ठोकने वाले को घर जाकर नींद कैसे आती होगी? वह यह क्यों नहीं सोचता होगा? वह किसी का बेटा था, किसी का भाई था, किसी का पति था, किसी का बाप था, इसके जाने के बाद उनका क्या होगा, मेरी एक गलती, लापरवाही की वजह से किसी की जान गई हे, जो व्यक्ति accident में मरा हे यदि वह उसकी family में कमाने वाला एक ही व्यक्ति होगा तो उसके जाने के बाद उसकी family का क्या हाल होगा? क्या होगा उसके बच्चो का? क्या होगा उनकी पढाई का? उनके खाने का? क्या हालात होगी उसकी बीवी की? उसके मा-बाप की.

अभी थोड़े दिनों पहले मैंने एक news पढ़ी थी जीसमे रात में एक तेजी से जा रही car, road के बाजू में खड़ी truck के पीछे घुस गई, इस car में 5 लोग सवार थे, एक बच्चा, उसके माँ-बाप और दादा-दादी, accident इतना भयानक था की माँ-बाप और दादा- दादी की उसी जगह पर मौत हो गई लेकिन बच्चे की जान बच गई, सोचिये अब उस बच्चे के भविष्य का क्या?

लोग Driving करते वक्त यह क्यों नहीं सोचते की जिस जिन्दगी को बनाने में उन्होंने सालो लगा दिए हे, कितने सालो तक पढाई की हे, career बनाने में कितना struggle किया हे, कितनी मेहनत की हे उसका केवल एक जटके में The End हो सकता हे.

जिन माँ-बाप ने मेरा career बनाने में, मेरी पढाई में, मेरे लालन-पालन में अपनी पूरी जिन्दगी कुर्बान कर दी हे, उनकी पूरी कुर्बानी एक जटके में व्यर्थ जा सकती हे, मेरे बाद मेरे parents का क्या?

यह जितना हमारे किस्से में लागु पड़ता हे उतना सामने वाले के किस्से में भी लागु पड़ता हे.

मेरे जाने के बाद मेरे माँ-बाप का क्या होगा? मेरी बीवी का क्या होगा? मेरे बच्चो का क्या होगा? उन्हें एक time खाना भी नसीब होगा की नही?  लोग यह क्यों नहीं सोचते? और यह क्यों नहीं सोचते की जो मेरे साथ हो सकता हे वह same to same दुसरे के साथ भी हो सकता हे? उसकी family को मेरी family की तरह ही यातना हो सकती हे.

मेरा आपसे अनुरोध हे की आप accident के किस्सों को पढ़े, जिससे आपको यह एहसास हो की accident के पश्चात क्या हो सकता हे?

जहा तक मेरा मानना हे, हमारे देश में road accident में किसी बीमारी(dengue, swine flu, cancer, heart attack, HIV etc) की तुलना में अधिक मौते होती होगी, यदि इस बीमारियों से बचने के लिए लोगो को tv पर short film के जरिये, विज्ञापन के जरिये, दिवालो पर, bus पर poster के जरिये लगातार मार्गदर्शित किया जाता हे तो ठीक उस तरह road accident से, accident होने के कारणों से, उसके दुस्प्रभावो से लोगो को मार्गदर्शित क्यों न किया जाये?

लोग एक जगह पर ठहरने को तैयार नहीं होते, bike वाले-car वाले भले सामने से बड़ा truck या bus आ रही होगी लेकिन रुकेंगे नहीं निकल ही जायेंगे, singnal तोड़कर निकल जायेंगे, overtake करेंगे ही करेंगे फिर भले सिंगल road पर सामने से कोई गाडी आ रही होगी, चालू गाडी पर phone पर बात करेंगे ही करेंगे फिर भले वह किसी और की गाडी से टकरा जाए या कोई और उसकी गाड़ी से टकरा जाए, वह सामने वाले की जान की परवाह नहीं करेंगे लेकिन अपनी भी नहीं करेंगे.

बहुत जल्दबाजी-तेजीसे गाडी चलाएंगे जैसे racing championship जितने वाले हो, क्या फर्क पड़ेगा यदि 60 की speed से गाडी भगाकर जायेंगे या 100 की speed से जायेंगे, फर्क पड़ेगा केवल कुछ मिनीटो का लेकिन जल्दबाजी में यदि कुछ हो गया तो जाना कहा होगा और चले कहा जायेंगे: Hospital या ऊपर.

मैंने bus पर एक वाक्य पढ़ा था: “धीरे से चलोगे तो घर बार मिलेगा, तेजीसे चलोगे तो हरिद्वार मिलेगा”.

कुछ लोग train पकड़ने के चक्कर में, bus पकड़ने के चक्कर में, job पर देर न हो जाए उस चक्कर में, किसी को time दिया हो वहा पहुचने के चक्कर में गाडी तेजी से चलाते हे, उन्हें यह याद रखना चाहिए की train छुट जायेगी-दूसरी मिलेगी, bus छुट जायेगी-दूसरी मिलेगी, job चली जायेगी-दूसरी मिलेगी, client चला जाएगा-दूसरा मिलेगा, Girl Friend चली जायेगी दूसरी मिलेगी: लेकिन यदि जीवन चला गया तो दूसरा नहीं मिलेगा.

मानवता मर सी गई हे, लोग accident के बाद लोगो की जान बचाने के बजाय mobile phone में उनकी video उतारते हे और pictures लेते हे, इस वजह से की वह दुसरो के साथ उन videos को share कर सके, उनके लिए लोगो की जान महत्वपूर्ण नहीं होती लेकिन videos और photos महत्वपूर्ण होते हे, याद रखे ऐसा आपके साथ भी हो सकता हे, जैसी करनी वैसी भरनी, Accident में ज्यादातर लोग इस वजह से मरते हे क्युकी उनको समय पर treatment नहीं मिलती, दयाभाव रखे और accident में चोटिल और घायल लोगो को जितना हो सके उतना जल्दी hospital पहुचाये.

बीमारी जान लेती हे: यदि लोग उसके प्रति उतने जागृत और सचेत होते हे तो इसके(accident) प्रति इतने सचेत और जागृत क्यों नहीं होते?

LIKE IT SHARE IT!!!

 

 

(Visited 56 times, 1 visits today)