सुवर्ण चन्द्रक विजेता स्विम्मेर सोफी पास्को की प्रेरणादायक कहानी

Sophie Pascoe जिन्होंने केवल 2 साल की उम्र में ही अपना एक पैर गवाने के बावजूद जीते 9 Paralympics Gold Medal,बनाये 5 World Records और बन गई Quen Of Pool.

Sophie Pascoe

Source:gettyimages

आज जब लोगो को छोटी-मोती समस्या आती हे तो वह बोखला जाते हे उनको यह पता ही नहीं चलता की अब वह क्या करे? और आखिर में वह अपनी किस्मत को दोस देकर शांति से बैठ जाते हे की मेरी किस्मत ही ख़राब हे में क्या करू.

US President Donald Trump Success Story

लोग अपनी विपरीत परिस्थिति के लिए किसी व्यक्ति को या चीज को दोषी ठहराते हे,जैसे की उस व्यक्ति ने मेरी मदद नहीं की,मेरे पास पैसे नहीं हे इसलिए में कोई अच्छा Business नहीं कर शकता,में पढ़ा लिखा नहीं हु,मेरा हाथ नहीं हे,पैर नहीं हे वगैरह को जिम्मेदार मानते हे और बात बात में इनका जिक्र भी करते हे.

Tom Cruise Life Story

दूसरी और कुछ ऐसे Sophie Pascoe जैसे लोग भी होते हे जो परिस्थितिया उनके अनुकूल न होनेके बावजूद भी अपना नाम कर जाते हे,वह सब कुछ हासिल कर लेते हे जो उनको चाहिए होता हे,वह किस्मत को दोष नहीं देते लेकिन अपनी किस्मत खुद बनाते हे.

उनके अन्दर यह Confidence होता हे की क्या हुआ मेरी किसीने मदद नहीं की,मेरे पास पैसे नहीं हे,में पढ़ा लिखा नहीं हु,मेरा एक हाथ या पैर नहीं हे लेकिन फिर भी में आगे बढूँगा,में वह सब कुछ हासिल करूँगा जो मुझे चाहिए और वह हासिल भी करते हे क्युकी “अगर किसी चीज को दिल से चाहो तो पूरी कायनात उसे तुमसे मिलानेकी कोशिस में लग जाती हे”

मुस्किलो में भाग जाना आसान होता हे,हर पहलु जिन्दगी का इम्तिहान होता हे,भागने वाले को कुछ नहीं मिलता जिन्दगीमे और लड़ने वालो के कदमो में ज़हान होता हे.

Amazon.com CEO Success Story

ऐसी ही प्रेरणा से भरपूर सोफी पास्को की Story में आपको बताने जा रहा हु…

Gold Medalist Swimmer Sophie Pascoe’s Very Inspirational Story

सोफी पास्को जिनका जन्म NewZealand जैसे छोटे देश में हुआ था लेकिन इन Swimmer ने पूरी दुनिया को अपनी Swimming का ऐसा जादू दिखाया की उनको बड़े बड़े दिग्गज भी सलाम ठोकने लगे,केवल 23 साल की उम्र में ही Sophie Pascoe ने Paralympic में 9 Gold Medal जित लिए इतना ही नहीं इस उम्र में उनके नाम Para Swimming में 5 World Records और 5 Continental Records दर्जित हो गये,और यह तो उनके Career की केवल शुरुआत हे अभी पूरी Picture आना तो बाकी हे.

Alibaba Founder Jack Ma Story

NewZealand Sports World में उनकी एक अलग पहचान हे और उनके नाम अपने देशमे Paralympic में सबसे ज्यादा Medal जितने का रिकॉर्ड दरजित हे और अब वह Physically Challenged लोगो के लिए प्रेरणा का स्त्रोत बन गई हे.

Sophie Pascoe का जन्म January-1993 में NewZealand की प्रख्यात City Queensland में हुआ था वह जेरी और जो की दूसरी सन्तान थी,उनके जन्म के वक्त तो वह दुसरे सभी बालको की तराह सामान्य ही थी,Sophy क्राइस्टचर्च में अपने माता-पिता और अपनी बहन रेबेका की देखभाल में बड़ी हो रही थी,लेकिन उनको यह पता नहीं था की आनेवाला समय उनके लिए कितना भयानक हे.

Amitabh Bachchan Story

वह 23-September-1995 का दिन था जब Sophie के शिर में बाल बहोत बढ़ गये थे और उसी वजह से उसकी देखभाल में काफी मुसीबत आ रही थी और इस वजह से उसकी Mother ने Hairdresser को अपने घर बुलाया हुआ था,इस दौरान सोफी और उसकी बहन रेबेका बाहर Garden में खेल रहे थे,हेयरड्रेसर को अभी आनेमे थोड़ी देर थी और इस दौरान Sophie Pascoe के Father बाहर Garden में घास को लोन कटर मशीन से काट रहे थे उन्होंने बगीचे में खेल रही अपनी दोनों बेटियो को देखा और उनको वहा से दूर खेलने के लिए कहा.

उस वक्त रेबका थोड़ी समजदार थी लेकिन सोफी तो केवल 2 साल की थी वह यह सब नहीं समजती थी उसको तो सिर्फ अपने पिता के पास जाना था और उसी वक्त एक Accident हुआ,जेरी लोन कटर चला रहे थे और उस वक्त सोफी एकदम से दौड़कर उनके पास आ गई  और उस दौरान उसके दोनों पैर लोन कटर मशीन के निचे आ गए,उस वक्त सोफी को इतना दर्द हुआ की वह चीखने चिल्लाने लगी और उसे तुरंत Hospital ले जाया गया.

India TV Chairman Rajat Sharma Story

लेकिन अफ़सोस काफी प्रयास करनेके बाद भी Doctors सोफी का बाया पैर बचा न शके,जबकि उसके दाए पैर में इतनी चोट नहीं आई थी वह वैसा का वैसा ही था,Sophie Pascoe के जीवन में आनेवाले इस भयानक Accident ने उसका जीवन ही बदल दिया,उसके माता-पिता को तो जैसे पैरो के निचे से जमीं खिसक गई.

Sophie Pascoe के माता-पिता ने तो यह कल्पना भी नहीं की होगी की अपनी जिस छोटी बच्ची को उन्होंने चलते शिखाया था और जो अपने छोटे छोटे पैरो से भाग रही थी उसे इस तराह उनको हॉस्पिटल के बिस्टर पर बिना पैर के लेता हुआ देखना पड़ेगा,उस समय सोफी के माता-पिता की क्या हालत थी उसकी कल्पना करनी भी मुस्किल हे लेकिन समय चलते उन्होंने यह परिस्थिति का स्वीकार कर लिया और इस परिस्थिति का सामना करने का मन बना लिया.

Oyo Rooms Founder Story

Accident के समय सोफी में कुछ समज नहीं थी लेकिन समय जाते उसको समज में आ गया की वह अब दुसरे सभी बालको की तरह सामान्य नहीं रही हे,यह एहसास के बावजूद उसने कभी भी अपने आपको उनसे कम नहीं आँका,उसके परिवार ने भी उसके कभी यह महसूस नहीं होने दिया की उसका एक पैर नहीं हे,उसका लालन पालन ऐसे ही हुआ हे जैसे Normarlly सभी बालको का होता हे, accident में सोफी ने अपने घुटने के निचे का पैर खो दिया था और इस वजह से वह लम्बा चल नहीं पा रही थी और यह सोचकर ही उसे Exercise मिल रहे इस उद्देश्य से उसे Swimming शिखाना चालू किया.

Accident में Sophie Pascoe ने अपना एक पैर गवा दिया था और इस वजह से उसे चलने में काफी तकलीफ जेलनी पड़ती थी,लेकिन जब उसने Swimming Pool में दुबकी लगाई तब चमत्कार हुआ,सोफी इतनी आसानी के साथ स्विमिंग करने लगी की उसके Trainer भी Surprise हो गए,उसका Swimming Coching रोली क्रिचटन की देखरेख में हुआ और तबसे सोफी ने एक के बाद एक Success हासिल करना Start कर दिया,शुरुआत में तो वह अपने साथ Training ले रहे बच्चो के साथ ही Competition करती लेकिन समय बीतते उसने Peralympic के लिए Preparation करना शुरू कर दिया, Swimming में सोफी के उत्त्साह को देख उसके परिवार ने भी उसे उसमे ही आगे बढ़ने के लिए मंजूरी दे दी.

Virat Kohli Life Story

Sophie Pascoe Swimming के साथ साथ Education में भी होशियार थी और वह उसमे भी आगे बढ़ने लगी,उसने 13 साल की उम्र में ही Sourth Africa में आयोजित Peralympic Championship के लिए NewZealand की Team में अपना स्थान पक्का कर लिया था,उस वक्त Peralympic में बड़े बड़े दिग्गज इस छोटीसी लडकी को आश्चर्य चकीत नजरो से देख रहे थे और उसी आश्चर्य के बिच इस छोटीसी लडकी ने कास्यच्द्र्क जित कर इतिहास रच दिया और इसीके साथ वह NewZealand इतिहास में सबसे कम उम्र में International Event में Success हासिल करने वाली Player बन गई,अपने Career की पहली ही Championship में Medal जितने के बाद सोफी का उत्साह काफी बढ़ गया और उसने अपनी Limit को ही अपना शस्त्र बनाकर आगे बढ़ने का मन बना लिया.

उसके बाद 15 साल की उम्र में सोफी ने China के Beijing City में हुए Peralympic में NewZealand की और से 3 Gold मैडल और 2 Rajat Medal जीते,NewZealand की Peralympic ने उसके बाद 2012 में London मे और 2016 में Riyo Paralympic Swimming में Golden हेट्रिक की भी हेट्रिक पूरी कर इतिहास रच दिया,उसमे भी Riyo Peralympic 2016 में सोफी ने 5 Paralympic Swimming Event में Participate किया और उसने पाचो मैडल अपने नाम कर लिए और इस दौरान उसने Paralympic Swimming में 5 World Record बनाकर पूरी दुनिया को Surprised कर दिया.

Charlie Chaplin Story

आप क्या सोचते हो उसकी सफलता के पीछे क्या था?

आत्मविश्वास था,कभी न हार मानने वाला जज्बा था और उसकी की बदोलत वह एक के बाद एक सफलता हासिल करती गई और उसने अपनी खामी को अपनी ताकत बना दिया.

क्या हम में हे यह Confidence और जज्बा? जरुर हे,बस हमे उसे पहचानने की जरुरत हे फिर देखिये हम कहा जाते हे,फिर कैसे सफलता हमारे कदम चूमती हे.

अगर आपको Gold Medalist Swimmer Sophie Pascoe की यह Story पसंद आई हो तो Please इसे Whatsapp,Google+ और Facebook पर जरुर शेयर करे.

 

 

 

 

 

(Visited 33 times, 1 visits today)