107 Best Uplifting Quotes of Vidur Niti

Best Uplifting Quotes of Vidur Niti(विदुर निति),जो एक बार जरुर पढने चाहिए.

Uplifting Quotes

Best Uplifting Quotes of Vidur Niti

1. प्रेम सभी पर रखे लेकिन विश्वास कभी नहीं.

2. तप,दम,यज्ञ,दान,अध्ययन,सदाचार और पवित्र विवाह-यह गुण जिस कुल में होंगे वह श्रेष्ठ कुल कहलाता हे.

3. जिसका चरित्र अच्छा हे उसके लिए पूरी दुनिया एक family हे.

4. प्रवंचना(fraud) कभी राजा नहीं बन सकता.

5. बोलने से ज्यादा मौन श्रेष्ठ हे और मूंगे रहने से ज्यादा सच बोलना श्रेष्ठ हे.

6. राजा,विद्वान,वृद्ध,बालक,अपंग,रोगिष्ठ(pathological) और माँ-बाप-इन सात पर गुस्सा करने वाला सामने से पीड़ा अपने ऊपर ले लेता हे.

7. जो सबका भला चाहता हे वह सबसे महान हे.

8. सभी चोट(injury) की दवा हे, खराब वानी की चोट की कोई दवा नहीं है.

9. जो धनवान है लेकिन गुणवान नहीं है उसकी संगत कभी नहीं करनी चाहिए.

10. आलसी,पेटू(voracious),चालाक,नापसंद,धूर्त,क्रोधी,विचित्र वेशभूषा वाला इन सात को कभी भी अपने घर पर मत ठहराओ.

11. बुद्धि के किये गये कार्य श्रेष्ठ,बल के माध्यम से और कपट से किये गए कार्य खराब हे.

12. लगातार पुरुषार्थ करने वाले को सभी भाग्य लगातार साथ देते हे.

13. जो वाद-विवाद नहीं करते वह संवाद(talk) में जीत जाते हे.

14. धीरज,पवित्रता,पुरुषार्थ,दया,मधुर वाणी,सहनशीलता और निरोगी शरीर यह 7 गुण हमेशा धन बढ़ाता हे.

15. जहा जहा जुआ खेला जाता हे वहा वहा लक्ष्मी का अभाव रहता हे.

16. यहाँ पर सीधे आदमी को ही सभी परेशान करते हे, इसलिए ज्यादा सरल नहीं होना चाहिए.

17. जो होने वाला था वह हो गया-उसे भूलकर वर्तमान में जिए.

18. घर की सभी महिलाओं की रक्षा करना वह घर के मर्दों का कर्तव्य हे.

19. स्वामी को सेवक के ऊपर और सेवक को स्वामी के ऊपर कभी अविश्वास नहीं रखना चाहिए.

20. विनय और विवेक disgrace का तुरंत विनाश करता हे.

Best Uplifting Quotes

21. बिना invitation के कभी भी पराये के घर नहीं जाना चाहिए.

22. धर्म का पालन कर,नीति पूर्वक income करना वह भी एक परम सिद्धि हे.

23. जो कभी भी क्रोध नहीं करता वह पुरुष योगी हे.

24. गुस्सा(anger) शरीर के सौंदर्य का नाश करता हे.

25. जब घर मे सभी सो गए हो तब अकेले जागना नहीं चाहिए.

26. किसी भी कार्य की शुरुआत करे तो उसे ज्यादा publicize न करे.

27. जो बिना किसी reason के गुस्से हो या बिना किसी reason के प्रसन्न हो उससे संभलकर रहिये.

28. सुख के लिए कभी भी धर्म का त्याग न करे.

29. Family को छोड़कर जो अकेला मिष्ठान(sweet stuff) खाता उसका पतन निश्चित हे.

30. बुद्धिमान यहाँ पर गरीब रह जाता हे और मुर्ख धनवान हो जाता हे.

31. जो खुद को नापसंद हो ऐसा व्यवहार दुसरो के साथ न करे.

32. क्षमा कभी भी किसी का अहित नहीं करती.

33. जो लोभी है उसे पूरी पृथ्वी(earth) दे देंगे फिर भी उसे कम ही पड़ेगा.

34. जो बिना भूख के खाता हे वह जल्दी मरता हे.

35. आग,देवी-देवता,स्त्री,गुरु और माता-पिता का कभी भी अपमान न करे.

Best Life Quotes Of दलाई लामा

36. जहा अतिथि का welcome होता हे,जिस परिवार में मधुर संवाद होता हे,संतोषकारक भोजन होता हे और सेवा होती हे, वहा चिरस्थायी(everlasting) लक्ष्मी रहती हे.

37. दुर्जन का बल हिंसा(violence) हे.

38. जो शास्त्र के विरुद्ध आचरण करता हे,उसे शास्त्र या शस्त्र का सामना करना पड़ता हे.

39. राजा को कभी भी अपने राज्य के नौकर(servant) की तनखा(salary) रोकनी नहीं चाहिए.

40. साप,राजा,शत्रु,भोगी,ऋणदाता(creditor),स्त्री और अपना शरीर इन 7 पर कभी अंधा विश्वास नहीं करना चाहिए.

Best Uplifting Quotes

41. सभी तीर्थ(pilgrimages) की, की गई यात्रा से सर्वोच्च, जीव दया हे.

42. किसी की बिना वजह आलोचना(criticize) नहीं करनी चाहिए,किसी बात को मूल से ज्यादा बढ़ा चढ़ाकर कहना और कर्कश वाणी का उच्चारण करना यह 3 ख़राब गुण दुःख बढ़ाते हे.

43. मधुर वाणी औषधि(medicine) हे और कटु वाणी रोग(disease) हे.

44. जो धातु(metal) बिना गरम किये मुड़ जाती हे,वह धातु को गर्म होना नहीं पड़ता है.

45. स्नान करने से रूप,बल,स्वर,beauty और स्वच्छता के लाभ प्राप्त होते हे.

46. शांति के लिए क्षमा,सुख के लिए समाधान,कल्याण के लिए धर्म श्रेष्ठ उपाय हे.

47. कच्चे फल तोड़ने वाला,फल के असली मिठास का आनंद नहीं उठा सकता.

48. जिसको जोरों से भूख लगती हे,उसको रोटी भी मिष्ठान हे लेकिन जिसको भूख ही नहीं लगती उसके लिए मिष्ठान भी व्यर्थ हे.

49. राजा,सैनिक,लोभी,अति दयालु,विधवा,बेहद असाधारण और खास friend के साथ पैसो का व्यवहार न करें.

50. डोरी से बंधी कठपुतली के जैसे,जीव दैव्य को बंधा आश्रित हे.

51. कर्म इन्द्रियों और ज्ञान इन्द्रियों के ऊपर जिसका काबू नहीं हे,वह श्रेष्ठ गुलाम हे.

52. नपुंसक को जैसे कोई स्त्री प्रेम नहीं करती,उसी तरह यदि राजा या स्वामी या मालिक की कृपा या क्रोध बिना वजह हो तो उसका सभी त्याग करते हे.

53. ऋषि का कुल और नदी का मूल जानने का प्रयास नहीं करना चाहिए.

54. जो सेवक आज्ञा का पालन करने के बजाय व्यर्थ दलीलबाजी करता हो उसे बिना देर किये हुए निकल देना चाहिए.

55. नाश हुई किसी भी चीज का कोई शौक नहीं करते,वह पंडित(scholar) हे.

56. सत्य से धर्म का,लगातार अभ्यास से विद्या का,सादगी(simplicity) और लालित्य(elegance) से सौंदर्य का और सद्गुणों से कुल का रक्षण होता हे.

57. मारे उसे मारने में कोई पाप नहीं है.

58. जिस सभा में वृद्ध नहीं हे,वह सभा नहीं हे,जो धार्मिक नहीं है वह जानकार नहीं हे,जिसमे सत्य नहीं हे उसमे कोई धर्म नहीं हे.

59. अधर्म(unrighteousness) से अभी तक किसी को सिद्धि(accomplishment) मिली हो ऐसा सुना नहीं हे.

60. व्यक्ति को जो प्रिय होता हे,उसके अवगुण दिखते नहीं है और जो प्रिय नहीं होता उसके सद्गुण दिखते नहीं है.

Best Uplifting Quotes

61. खुद के उपयोग के लिए प्राप्त किया गया अन्न,दही,नमक,शहद,तेल,घी,तिल,root,शब्जी,लाल वस्त्र और गुड़-यह 11 चीजे किसी को बेचना नहीं चाहिए.

62. किसी भी उदेश्य(purpose) के बिना प्रवास करना नहीं चाहिए.

63. जो आदमी जैसा व्यवहार करे उसके साथ वैसा ही व्यवहार करना चाहिए.

64. समय आने पर जो शत्रु को भी help करता हे,उसके यहाँ विपत्तिया(trouble)नही आती हे.

65. माता-पिता,प्रभु या गुरु के पैर छूने से आयुष्य,विद्या(knowledge) और यश(fame) बढ़ते हे.

66. पर्वत(mountain) की टोच पर,घर में,एकांत स्थल पर,निर्जन स्थान या वन में,नदी या समुद्र के किनारे,किसी धर्म स्थान में, जब भी समय मिले तब बैठकर आत्ममंथन(self-reflection) करना चाहिए.

67. दूरदर्शिता(foresight),कुलीनता(arbitrariness),स्वाध्याय(self-study),पराक्रम,मितभाषण(laughter) ज्ञान और कृतज्ञता(gratitude)-यह आठ गुण मनुष्य को यशस्वी बनाते हे.

68. धन का मुख्य उद्देश्य ही दान और भोग हे.

69. शुभ कार्य करने के संकल्प समय से ही परिस्थिति(circumstances) बदलना शुरू हो जाती हे.

70. जो खुद की ही प्रशंसा करता रहता हे वह सभी जगह पर नफ़रत के पात्र बनता हे.

Wonderful Short Life Quotes Of मोरारी बापू

71. जो कल्याण की इच्छा रखता है, उसे कभी भी कुटुंब(family) में विवाद या अंदरूनी कलह नहीं करना चाहिए.

72. ज्ञान से अभय,तप से गौरव,गुरु सेवा से ज्ञान और योग से शांति मिलती हे.

73. सभी त्योहारों में जो यथाशक्ति अनुसार अपने परिवार का ध्यान रखता हे,वह सुखी हे.

74. आलस,ड्रग्स का सेवन,बहु बोला स्वभाव,परिवार की माया,उत्सुकता का अभाव,लालच,चंचलता और अहंकार-जहां यह 8 दुर्गुण हो वहाँ कभी भी विद्या या विद्यार्थी(student) का विकास होता नहीं हे.

75. जीवन में जो केवल थोड़े लाभ से ही संतुष्ट हो जाता हे वह महामूर्ख(bloody fool) हे.

76. दिन में ऐसा और इतना काम करना चाहिए की रात को तुरंत नींद आ जाए.

77. सत्य,दया,तप,अहिंसा,अचौर्य और अपरिग्रह धर्म के द्वार हे.

78. जो आस्तिक(theist) हे वह पंडित हे.

79. किसी भी प्रसंग में जो बिना आमंत्रण के चला जाए,वह अपमानित होता हे.

80. परिवार(family) का भला हो तो परिवार के खराब व्यक्ति का तुरंत त्याग कर देना चाहिए,गांव का भला हो तो परिवार का,देश का भला हो तो गांव का और यदि आत्मा की मुक्ति होती हो तो पृथ्वी का राज भी छोड़ देना चाहिए.

Best Uplifting Quotes

81. क्रोध को शांति से,दुर्जन को शिष्टाचार से,कंजूस को दान से,असत्य को सत्य से,माँ-बाप को सेवा से,पत्नी को प्रेम से और पति को स्वादिष्ट(delicious) भोजन से जीतना चाहिए.

82. विद्यार्थी को सुख कहाँ से और सुखार्थी को विद्या कहाँ से?

83. जो नापसंद हो उसे पसंद करता हे और जिसे पसंद करना चाहिए उसका त्याग करता हे,वह मूर्ख है.

84. हमेशा प्रसंग(context) के अनुरूप पोशाक(costume) पहनना चाहिए.

85. जो पूरे निस्वार्थ भाव से सेवा करता है,उसको अनायास अपार सुख मिलता हे.

86. जिस तरह उच्च कुल(clan) में पैदा हुए नीच बन सकते हे,उसी तरह नीच कुल का उच्च बन सकता हे.

87. जिस पेड़ पर फल-फूल आते नहीं हे,उसका पक्षी त्याग कर देते हे उसी तरह मरे हुए इन्शान का उसके रिश्तेदार तुरंत ही त्याग कर देते हे.

88. जो शुभ कार्य में अपने से बेहतर को आगे रखता हे,वह सफल होता हे.

89. जिस घर से अतिथि निराश और नाराज हो जाता हे,उस घर का पुण्य व्यर्थ हो जाता हे.

90. जो अन्न सुपाच्य(digestible) हो वही आदमी को ग्रहण करना चाहिए.

महाग्रंथो के 5 inspirational quotes जिससे हरेक कार्य में सफलता प्राप्त होगी 

91. अकेला निकला हुआ,मजबूत मूळ वाला पेड भी उखड़ता हे वैसा मनुष्य का भी हे.

92. जो गाय आसानी से दूध निकालने नहीं देती,उसे काफी मार खानी पड़ती हे.

93. जैसा प्रश्न हो वैसा ही उत्तर देना चाहिए.

94. यान,विग्रह,आक्रमण,आसान,संधि,शत्रुता,समाश्रय वह राजनीति है.

95. दूध,फल,medicines,पानी,कंद मूल,कोई देवी देवता का प्रसाद लेने से उपवास(fast) या व्रत का भंग होता नहीं हे.

96. काम,क्रोध,लोभ,मोह,मद और मत्सर नर्क के द्वार हे.

97. नशा करने वाला,पागल,कामुक,अभिमानी,लोभी,क्रोधी,हेस्टी,डरपोक(coward),आलसी(lazy) और ज्यादा बोलने वाले की संगत(company) कभी नहीं करनी चाहिये.

98. जो दूसरे के सुख से सुखी होते हे,वह सज्जन हे,लेकिन जो दूसरे के दुःख से दुखी होते हे वह संत(Saint) हे.

99. जैसे अग्नि ईंधन से संतुष्ट नहीं हे,वैसे ही कामी पुरुष स्त्री से संतुष्ट नहीं है.

100. फूल मे से भंवरा जिस तरह शहद लेता हे,राजा को उस तरह से प्रजा से कर(tax) लेना चाहिए.

Best Uplifting Quotes

101. राजनीति( politics) में धर्म जरूरी है लेकिन धर्म में राजनीति जरुरी नहीं हे.

102. जो दुर्जन का आदर-सत्कार नहीं करता है उसको यश और महत्ता मिलती हे.

103. धन,पुत्र,सद्गुणी पत्नी,आज्ञाकारी पुत्र,निरोगी शरीर और विद्या-सुख देता हे.

104. अपना जरुरी काम छोड़कर ,दूसरे का काम करने भाग जाए,वह महामूर्ख है.

105. सुपात्र को दान देना,वह धन की प्रतिष्ठा है.

106. जो भाग्य में लिखा हे वह कभी मिथ्या नहीं होता.

107. जब मुसीबत आ जाए तब बिना संकोच के बड़ो का मार्गदर्शन(guidance) लेना चाहिए.

यदि आपको यह uplifting quotes of vidur niti पसंद आये हो तो कृपया इसे social sites पर जरुर share करे.

(Visited 383 times, 1 visits today)